Home मध्य-प्रदेश इंदौर के बाद सतना में पकड़ी गई 17 करोड़ की जीएसटी चोरी

इंदौर के बाद सतना में पकड़ी गई 17 करोड़ की जीएसटी चोरी

401

GST टीम ने केजेएस प्रवंधन के खिलाफ दर्ज किया मामला

फेस कवर में आरोपी

मप्र के इंदौर में 225 करोड़ की जीएसटी कर चोरी के बाद सतना में भी जीएसटी(GST) चोरी का मामला सामने आया है। जीएसटी टीम ने केजेएस सीमेंट फैक्ट्री में अभी तक की हुई जांच में 17 करोड़ 2 लाख जीएसटी कर चोरी का खुलासा किया है। जांच खत्म हाने के बाद आकड़ा 100 करोड़ तक हो सकता है। कर चोरी के इसी मामले में बुधवार को केजेएस सीमेंट मैहर के प्रेसीडेंट कुशल सिंह सिंघवी को सेंट्रल जीएसटी टीम ने गिरफ्तार किया है। वही केजेएस सीमेंट के एमडी पवन अहलूवालिया जीएसटी टीम की नोटिस के बाद भी जांच में सामिल नही हुए और भूमिगत हो गए।

सीनियर प्रेसीडे़ट सिंघवी 25 तक न्यायिक रिमांड में

केजेएस सीमेंट के गिरफ्तार सीनियर प्रेसीडे़ट कुशल सिंह सिंघवी को सेंट्रल जीएसटी टीम ने शाम करीव साढे 4 बजे सतना जिला न्यायालय की रिमांड कोर्ट के समक्ष पेश किया। कोरोना महामारी के चलते जिला विधिक सेंवा केन्द्र में संचालित न्यायिक मजिस्ट्रेट की रिमांड अदालत ने आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में 25 अगस्त तक के लिए केन्द्रीय कारागार भेज दिया। केन्द्रीय जीएसटी टीम ने आरोपी को जीएसटी एक्ट की धारा 132 (1)(a) के दर्ज अपराध के तहत अदालत में पेश किया था।

दिल्ली से मैहर तक 28 जगह छापा

टैक्स चोरी के मामले में केन्दीय जीएसटी (DGGI) टीम ने देश भर में तकरीबन 28 जगहो पर छापा मारा है। इसमें एमडी के सतना स्थित घर, फैक्ट्री मैहर, दिल्ली, आगरा, कुशीनगर, इलाहाबाद और कानपुर सामिल है। 1 हफ्ते तक चले इस ऑपरेशन के दौरान सीमेंट कंपनी से सम्बंधित अधिकारियों ,कारोबारियों और कंपनी के एमडी तथा डायरेक्टरों के परिचितों के यहां भी दबिश दी। इस दौरान 52 लाख 30 हजार 9 सौ रुपए की नगदी बरामद की गई। वही 17 करोड़ 2 लाख की जीएसटी चोरी सामने आई है।

पुलिस की मौजूदगी में जांच

जीरएसटी टीम की छापे मारी के दौरान अंडगा भी कम नही लगाया गया। जांच रोकने और प्रभावित करने के लिए सतना स्थित घर और मैहर की फैक्ट्री में लोगो को इकट्ठा किया और जांच में बाधा डाली। जिसके चलते जीएसटी टीम को लोकल पुलिस का सहारा लेकर आगे की जांच पुलिस की मौजूदगी में करनी पड़ी। इस दौरान मारपीट करने के आरोप भी लगे।