Home मध्य-प्रदेश पुलिस दल के साथ मारपीट के आरोपियो की अग्रिम जमानत याचिका खारिज 

पुलिस दल के साथ मारपीट के आरोपियो की अग्रिम जमानत याचिका खारिज 

174

उचेहरा में शासकीय सेवक से मारपीट का मामला

नागौद। धरना प्रदर्शन की आड़ में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुचा रहे आरोपियो को रोक रहे पुलिस कर्मियों पर हमला करने के मामले में दाखिल अग्रिम जमानत याचिका को अदालत ने सुनवाई के बाद खारिज कर दिया। द्वितीय अपर एवं सत्र न्यायाधीश वीडी राठौर की अदालत ने शासकीय सेवको के साथ मारपीट को गंभीर मानते हुए आरोपी बृजेश शुक्ला पिता प्रद्युम्न प्रसाद शुक्ला 38 वर्ष, उमेश गौतम पिता लालजी गौतम 49 वर्ष, विनय उर्फ लाले ताम्रकार पिता स्वर्गीय बाबूलाल ताम्रकार 46 वर्ष, राज किशोर वर्मन पिता विक्रम वर्मन 41 वर्ष और सुधीर पांडे पिता  विनोद पांडे 38 वर्ष  निवासी उचेहरा जिला सतना की याचिका निरस्त की है। राज्य की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी विनोद प्रताप सिंह ने पक्ष रखा। पीआरओ हरिकृष्ण त्रिपाठी ने बताया कि आरोपियो के खिलाफ  उचेहरा थाने में धारा 147, 186, 353, 332, भादवि के तहत प्रकरण दर्ज है। आरोप है कि 30 जून 2020 को कांग्रेस पार्टी द्वारा मध्य प्रदेश सरकार के विरुद्ध सामाजिक रैली एवं पुतला दहन का कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें पुलिस की ड्यूटी लगी थी आरोपी द्वारा पब्लिक प्रॉपर्टी में तोड़फोड़ की गई जिसे रोकने का प्रयास पुलिस के द्वारा किया गया। आरोपियो ने पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट की और संपत्ति की नुकसान पहुचाया। गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपियो की ओर से अग्रिम जमानत याचिका दाखिल कर जमानत मांगी गई थी, जिसे अदालत ने नामंजूर कर याचिका खारिज कर दी।